Wednesday, December 2, 2015

हम नहीं सुधरेंगे ---


सर पर हेलमेट नहीं पर मोबाईल पर स्क्रीन गार्ड लग जाये ,
सर भले ही फट जाये पर मोबाईल पर खरोंच कभी ना आये।

बना लो जितने स्पीड ब्रेकर , हम ब्रेकर को ही ब्रेक कर जायेंगे ,
ब्रेक में से गाड़ी निकाल लेंगे पर गाड़ी में ब्रेक नहीं लगाएंगे ।

सडकों पर ज़ेबरा क्रॉसिंग बनाना सरकार मज़बूरी तुम्हारी है ,
हम स्वतंत्र भारत के नागरिक हैं , सारी सड़क ही हमारी है।

जितने मर्ज़ी ओवरब्रिज बना लो , लगा दो रेलिंग छै फुट ऊंची ,
रेलिंग कूद कर फांद जायेंगे , या बिल बना लेंगे खोदकर मिटटी।











5 comments:

  1. डाक्टर साहब , जब लालू एंड फेमली की सेहत बिना मेडिकल सलाह के सुधर सकती है तो हम भला क्यों फालतू में डाक्टरों की सलाह लेकर सुधरें ? :-)

    ReplyDelete
    Replies
    1. हा हा हा। पता है नहीं सुधरेंगे।

      Delete
  2. ध्यान तो हमें ही देना पड़ेगा, आखिर शरीर भी हमारा ही है!

    ReplyDelete
  3. क्या कहें... यही मानसिकता सुधर जाये तो बात ही क्या हो.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अब तो ट्रैफिक पुलिस भी दिखाई नहीं देती।

      Delete