Sunday, August 9, 2009

जानिए, कहीं आप मोटापे के शिकार तो नहीं --

बड़े खाते पीते घर का लगता है.
या फिर, बड़ा हैल्दी है.कुछ इसी तरह की बातें सुनने को मिलती हैं, किसी मोटे आदमी को देखकर.
आज भी हमारे समाज में ऐसे लोग है जो मोटा होने को तगड़ा होना समझतेहैं और पतला होने को कमजोर होना.
लेकिन जो लोग मोटापे के शिकार होते हैं, ज़रा उनसे पूछ कर देखिये की उनके दिल पर क्या बीतती है. तो आइये देखते है की मोटापा किसे कहते है और चलिए इसी बहाने अपना भी निरीक्षण हो जायेगा.

मोटापा क्या है?

यूँ तो हमारे शरीर में १८-२३ % फैट यानि चर्बी होती है, लेकिन यदि चर्बी की मात्र इससे ज्यादा बढ़ जाये तो इसे ओबेसिटी या मोटापा कहते हैं. वैसे तो चर्बी हमारे शरीर में त्वचा के नीचे और पेट के अन्दर मौजूद रहती है और एक रक्षा कवच का काम करती है. यह एक अच्छा ऊर्जा श्रोत भी है. लेकिन जरूरत से ज्यादा होने पर मुसीबत की जड़ भी बन सकती है.
पुरुषों में एक्स्ट्रा फैट का जमाव पेट और कमर के इर्द गिर्द होता है, इसलिए ऐसी फिगर को एप्पल शेप्ड कहा जाता है. महिलाओं में यह हिप्स और जांघों पर जमा होता है, इसको पीअर शेप्ड कहते हैं.

मोटापे से क्या हानियाँ हो सकती हैं?

मोटापे से न सिर्फ हमारे शरीर पर एक्स्ट्रा बोझ रहता है जो हमें ढोना पड़ता है बल्कि तरह तरह की बीमारियाँ होने की संभावनाएं बढ़ जाती है. इनमे प्रमुख हैं :
डायबिटीज़ यानि मधुमेह
उच्च रक्त चाप
कॉलेस्ट्रोल का बढ़ना
हार्ट अटैक की सम्भावना
स्ट्रोक
इन भयंकर बीमारियों के इलावा अधिक वज़न वाले व्यक्तियों को अक्सर जोडों में दर्द ,विशेषकर गुटनों में ,
पित की थैली में पथरी और साँस का फूलना जैसी तकलीफें भी होने लगती हैं.

कैसे पता करें की आप मोटे तो नहीं?

१. सबसे आसान तरीका : कमर का नाप
पुरुषों में ४० इंच और महिलाओं में ३५ इंच से ऊपर खतरे की घंटी बजनी चाहिए .
अगर आपकी कमर का नाप इससे ऊपर है तो आप हाई रिस्क के दायरे में है.

२. हाईट और वेट :
अपनी हाईट को सेंतिमेटर में नापें और उसमे से १०० घटा दें. यह आपके नार्मल वेट की उप्परी सीमा है.
यानि अगर आपकी हाईट १७० सीएम है तो १०० घटाने पर आया ७०.
यदि आपका वज़न ७० केजी से ऊपर है तो आप ओवरवेट हैं.

३. वेस्ट / हिप रेशो :
आपके कमर के नाप और हिप्स के नाप का अनुपात एक अच्छा तरीका है.
इसके लिए कमर के नाप को हिप्स के नाप से विभाजित करिए.
यह अनुपात महिलाओं में ०.८ और पुरुषों में १.० से कम होना चाहिए.
इससे ज्यादा का मतलब है की आप को संभलने की ज़रुरत है.
४. सबसे बढ़िया तरीका है बी ऍम आई यानि बोडी मास इंडेक्स .
इसको निकालने का तरीका है :

वज़न (किलोग्राम)/ हाईट (वर्ग मीटर )
उदहारण :
मान लीजिये आपका वज़न ७० किलोग्राम है और आपकी हाईट १.७० मीटर है.
तो आपका बी ऍम आई हुआ
७०/ १.७ x १.७ = २४.२
आइये अब देखते हैं की नोर्मल बी ऍम आई कितनी होती है ?
१९ से २५ --नोर्मल
२५ से ३० --ओवरवेट
३० से ज्यादा ---ओबीज यानि मोटापा
तो भाई अगर आपकी बी ऍम आई ३० से अधिक है तो इसका मतलब ये हुआ की आपकी हालत गालिब जैसी है की:
मुफ्त की पीते थे लेकर और जानते थे
की रंग लाएगी अपनी फाकामस्ती एक दिन
और अगर ४० से ऊपर है तो फिर आप एक ऐसे अटम बम पर बैठे हैं जिसकी चाबी एक आतंकवादी के हाथ में है. न जाने कब उसकी खोपडी घूम जाये और ---

क्या है इसका उपाय?

दोस्तों यदि आप मोटापे के शिकार है तो घबराइये नहीं. आज से ही सेहत पर ध्यान देना शुरू करदें. वजन घटाने के दो ही तरीके हैं :
१. डाईटिंग यानि खाने पर कंट्रोल
२. शारीरिक गतिविधियाँ बढ़ाना यानि व्यायाम

डाईटिंग का मतलब भूखा रहना नहीं है. इसका मतलब है की आप खाने में ऐसे पदार्थ खाएं जिनसे कैल्रीस कम मिलें जैसे की हरी सब्जियां, सलाद , डालें वगरह.
मोटापा कम करने के लिए घी और मीठे से बनी चीजों का सेवन कम से कम करना चाहिए.
जितना खाना आप रोजाना खाते है, उससे थोडा कम खाइए.
दिन में कम से कम तीन बार भोजन करिए लेकिन थोडी मात्र में.
जंक फूड्स से बचिए.
खाने की प्लेट भरने से सोचिये की देश में कितने लोग भूखे सोते हैं.

व्यायाम :

अक्सर देखने में आता है की हम १०० मीटर दूर मार्केट जाने के लिए भी कार का इस्तेमाल करते हैं.
एक या दो फ्लोर चढ़ने के लिए लिफ्ट का प्रयोग करते हैं.
सच पूछिए तो ये ऐशो आराम की जिंदगी ही हमारी सबसे बड़ी दुश्मन है.
इसलिए दोस्तों जहाँ तक हो सके थोड़े हाथ पैर ज़रूर हिलाइए.

याद रखिये की ५ से १० % तक भी वजन का घटना बहुर लाभदायक हो सकता है.
यह कतई ज़रूरी नहीं की आपका वजन आइदिअल हो. इसलिए आज से ही शुरू हो जाइए और देखिये बीमारियाँ आपसे कैसे दूर भागती हैं.

9 comments:

  1. पुरुषों में एक्स्ट्रा फैट का जमाव पेट और कमर के इर्द गिर्द होता है, इसलिए ऐसी फिगर को एप्पल शेप्ड कहा जाता है. महिलाओं में यह हिप्स और जांघों पर जमा होता है, इसको पीअर शेप्ड कहते हैं.


    -यहाँ तो पम्पकिन शेप्ड हो लिए हैं जी.

    आपकी सलाह पर गंभीरता से अमल शुरु कर दिया है.आभार आपका.

    ReplyDelete
  2. सर बहुत ही कमाल की जानकारी दी है आपने. आभार.

    ReplyDelete
  3. सर... घूमते - टहलते बेहतरीन जानकारी मिली....

    ReplyDelete
  4. dhnyavaad....................
    main bhi aapki nek salaah par chalne ki koshish karoonga !

    ReplyDelete
  5. बहुत बहुत धन्यवाद ! आपके पोस्ट के दौरान बहत ही अच्छी और ज्ञानवर्धक जानकारी प्राप्त हुई ! मैं आपके इस सलाह को ज़रूर मानने की कोशिश करुँगी !

    ReplyDelete
  6. बेशकीमती, तथ्यपरक और क्रमबद्धता से लवरेज जानकारी मुहैया कराने का डाक्टर साहेब को हार्दिक धन्यवाद.

    ReplyDelete
  7. स्‍वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  8. thanks for you waghte lose farmula

    ReplyDelete
  9. जानकारी भरा बढ़िया आलेख...
    लगता है अब सोचना पड़ेगा ...:-(

    ReplyDelete