Friday, July 3, 2009

canada se --

चल दिए--
आसमां से-- बादलों के ऊपर --ये जमीं है या आसमां-- लो भाई पहुँच गए ---

6 comments:

  1. डॉ साहब , नमस्कार !
    आपकी आमद , और हौसला-अफज़ाई का
    बहुत -बहुत शुक्रिया .

    तसवीरें लाजवाब हैं ....
    just alluring......

    "आसमां में , बादलों में , या ज़मीन पर
    'वो' जहां रहा , अदब ki रौशनी रही "

    दुआ करता हूँ
    आपका कनाडा निवास/भ्रमण
    सुखद रहे.....आमीन .

    ---मुफलिस---

    ReplyDelete
  2. निहायत खूबसूरत यात्रा की जानदार चित्र कथा लाजवाब कर गई.

    प्रस्तुति पर आभार.

    चन्द्र मोहन गुप्त

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर चित्र..

    ReplyDelete