top hindi blogs

HAMARIVANI

www.hamarivani.com

Wednesday, December 1, 2021

कितना बदल गया संसार --

 कभी दो कमरों में छह जनें रहते थे,

अब छह कमरों में दो जनें रहते हैं। 


घरवाले तकलीफ़ तब भी सहते थे,

घर के बुजुर्ग दुखी अब भी रहते हैं। 


मकां छोटा था पर दिल बड़ा रखते थे,

अब मकां बड़े और दिल छोटे दिखते हैं। 


रोज शाम सब हिल मिल कर हँसते थे,

अब पार्क में हँसी भी नकली हँसते हैं।


डिग्री नहीं पर ज्ञान का भंडार रखते थे,

अब ज्ञानविहीन डिग्री का भार रखते हैं। 


रोज सुबह बुजुर्गों का आशीष प्राप्त करते थे,

अब दूर बैठे व्हाट्सएप्प पर हैलो हाय करते हैं। 


दो चार बच्चे सदा मां बाप के पास रहते थे, 

अब उनके दिल में खाली अहसास रहते हैं। 


तब अभावों में भी ख़ुशी का भाव रखते थे, 

अब विकास में भी मन में तनाव रखते हैं।   


1 comment:

  1. जी नमस्ते ,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल गुरुवार(०२ -१२ -२०२१) को
    'हमारी हिन्दी'(चर्चा अंक-४२६६)
    पर भी होगी।
    आप भी सादर आमंत्रित है।
    सादर

    ReplyDelete