top hindi blogs

HAMARIVANI

www.hamarivani.com

Friday, May 21, 2021

जब डर नहीं लोगों में तो कोरोना भी क्यों डरे --

 

नंदू बिना मास्क के चार चक्कर लगा आया,
न किसी ने पकड़ा न पुलिस ने डंडा बजाया।
जब डर नहीं लोगों में तो कोरोना भी क्यों डरे,
सेकंड वेव का राज़ हमें अब समझ मे आया।

ब्लैक फंगस के केस बहुत नज़र आने लगे हैं,
डॉक्टर्स अब सबको ये बात समझाने लगे हैं।
स्टीरॉयड्स एक राम बाण दवा है सही हाथों में,
किंतु लोग बिना सलाह के खुद ही खाने लगे हैं।

अपनी गली में तो कुत्ता भी शेर हो जाता है,
कमज़ोर हो जाये तो शेर भी ढेर हो जाता है।
कोरोना डायबिटीज स्टिरॉयड हैं कमज़ोर कड़ी,
ऐसे में ब्लैक फंगस सेर पर सवा सेर हो जाता है।

इम्युनिटी कम हो तो फंगस पर ताला नही होता,
मुंह पर सूजन होती आंख में उजाला नही होता।
हर गोल्डन दिखने वाली चीज गोल्ड नही होती,
ब्लैक फंगस भी वास्तव में काला नही होता।।

ना कोई दवा ना दुआ ही काम आती है,
बस कोरोना की दया असर दिखाती है।
ईश्वर की इच्छा के आगे नही चलता वश,
केवल उसकी मर्जी ही जिंदगी बचाती है।

5 comments:

  1. ना कोई दवा ना दुआ ही काम आती है,
    बस कोरोना की दया असर दिखाती है।
    ईश्वर की इच्छा के आगे नही चलता वश,
    केवल उसकी मर्जी ही जिंदगी बचाती है।

    ReplyDelete
  2. कोरोना का कहर हम लोगों की लापरवाही का नतीजा है ।
    अभी भी समझ आ जाये तो बड़ी बात है ।।
    डॉक्टर साहब की डॉक्टरी कलम चली है ।
    बहुत बढ़िया ।

    ReplyDelete
  3. नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा शुक्रवार (21-05-2021 ) को 'मेरे घर उड़कर परिन्दे आ गये' (चर्चा अंक 4072 ) पर भी होगी। आप भी सादर आमंत्रित है।

    चर्चामंच पर आपकी रचना का लिंक विस्तारिक पाठक वर्ग तक पहुँचाने के उद्देश्य से सम्मिलित किया गया है ताकि साहित्य रसिक पाठकों को अनेक विकल्प मिल सकें तथा साहित्य-सृजन के विभिन्न आयामों से वे सूचित हो सकें।

    यदि हमारे द्वारा किए गए इस प्रयास से आपको कोई आपत्ति है तो कृपया संबंधित प्रस्तुति के अंक में अपनी टिप्पणी के ज़रिये या हमारे ब्लॉग पर प्रदर्शित संपर्क फ़ॉर्म के माध्यम से हमें सूचित कीजिएगा ताकि आपकी रचना का लिंक प्रस्तुति से विलोपित किया जा सके।

    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।

    #रवीन्द्र_सिंह_यादव

    ReplyDelete
  4. बेहतरीन प्रस्तुति।

    ReplyDelete